आप यहां हैं:

अनुसंधान और विकास

सौर विद्युत लागत में कमी सम्‍भाव्‍यता सौर प्रौद्योगिकियों की दक्षता में सुधार के साथ अत्‍यधिक सहसम्‍बद्ध है। जवाहरलाल नेहरू राष्‍ट्रीय सौर मिशन ने उत्‍तरोत्‍तर और सकेंद्रित अनुसंधान अवसंरचना विकास पर विचार किया है। भारतीय सौर ऊर्जा निगम नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय द्वारा गठित सौर ऊर्जा अनुसंधान परामर्शी परिषद का सदस्‍य है जो सौर क्षेत्र में मौजूदा अनुसंधान अवसंरचना का विश्‍लेषण करेगा और इसके बाद एक ऐसा ढांचा स्‍थापित करेगा जो जवाहरलाल नेहरू राष्‍ट्रीय सौर मिशन के विजन के साथ सम्मिलित होने में देश में अनुसंधान और विकास गतिविधियों में तेजी लाने के लिए सहायक वातावरण सृजित करेगा। भारतीय सौर ऊर्जा निगम द्वारा किए जा रहे विभिन्‍न कार्यकलाप निम्‍नलिखित हैं: 

सौर विकिरण कार्यकलाप

भारतीय सौर ऊर्जा निगम सौर ऊर्जा केन्‍द्र के सहयोग से सौर विकिरण मापन संवेदकों के लिए अंशशोधन सुविधा स्‍थापित करने के लिए एक अनुसंधान और विकास परियोजना पर कार्य कर रहा है। इस परियोजना का उद्देश्‍य का चुनिंदा स्‍थानों पर सौर विकिरण आंकड़ों का विश्‍लेषण करने का उद्देश्‍य है।

आई आई टी राजस्‍थान में सौर तापीय पार्क

भारतीय सौर ऊर्जा निगम आईआईटी जोधपुर में सौर तापीय प्रौद्योगिकी प्रदर्शन पार्क स्‍थापित करने के लिए अनुसंधान और विकास परियोजना में सक्रिय रूप से शामिल है। इसमें प्रत्‍येक 5 मेगावाट क्षमता की तीन यूनिट स्‍थापित करने की परिकल्‍पना की गई है जिसमें सी एल एफ आर, सोलर टावर और बीम डाउन सी एस पी जैसी अनेक प्रौद्योगिकियों/विशेषताओं के साथ सात संयंत्र शामिल होंगे।